कालसर्प दोष निवारण

कालसर्प दोष निवारण पूजा  नाशिक मैं या उज्जैन मैं करना बहुत शुभ माना जाता हैं और बहुत जल्दी इसके फल प्राप्त होते हैं. पर किसी कारणवश आप ये पूजा नहीं करवा पाते तो भी कालसर्प दोष निवारण  के लिए कुछ सरल उपाय ज्योतिष शास्त्र मैं बताये गए हैं जिनके करने से कालसर्प दोष निवारण  होता हैं

आज हम आपको ऐसे ही कुछ कालसर्प दोष निवारण के सरल उपाय  बता रहे जिन्हे आप आसानी से करकर कालसर्प दोष निवारण  कर सकते हैं

कालसर्प दोष निवारण

  • शिवलिंग पर प्रतिदिन जल और २१ बिल्वपत्र चढ़ाएं।
  • प्रतिदिन महा मृत्युंजय मन्त्र की कम से कम १ माला का जाप करें।
  • शिव भगवान का रुद्राभिषेक करे या करवाए ।
  • अपने शयन कक्ष मैं सिरहाने पर मोरपंख सदा रखे
  • नागपंचमी का व्रत करें और नाग देवता की पूजा अर्चना करे ।
  • नित्य हनुमान चालीसा का 108 बार पाठ करें।
  • मंगलवार एवं शनिवार को सुंदरकाण्ड का पाठ करें।
  • नित्य सुबह जौ के दाने पक्षियों को खिलाएं
  • रोज शिवलिंग पर चंदन युक्त धूप, तेल, सुगंध अथवा इत्र अर्पित किया करें।
  • शिवलिंग पर चांदी के नाग और नागिन का जोड़ा अर्पित करे।
  • चांदी की छोटी डिब्बी में नागकेसर अपने पास रखने से काल सर्प दोष का निवारण होता हैं
  • नाग पंचमी के दिन चांदी के सर्प की पूजा करें और सफेद फूल व बताशे के साथ इनका जोड़ा बहते हुए जल में प्रवाहित कर दें ।
  • शनिवार के दिन पीपल के वृक्ष की पूजा करें तथा शाम के समय पीपल के नीचे दीपक जलाएं ।

उपरोक्त कालसर्प दोष निवारण उपाय  सच्ची श्रद्धा और विश्वास के साथ करके आप कालसर्प दोष कम कर सकते हैं या बिलकुल ख़तम भी कर सकते हैं

कालसर्प दोष क्या है

कालसर्प दोष के लक्षण

कालसर्प दोष निवारण मंत्र

(Visited 126 times, 1 visits today)