महामृत्युंजय मंत्र

महामृत्युंजय मंत्र  यजुर्वेद के रूद्र अध्याय का शिव स्तुति मंत्र है। महामृत्युंजय मंत्र  शिव को मृत्युंजय (मृत्यु को जीतने वाला) के रूप में समर्पित है।

महामृत्युंजय मंत्र  के लाभ

“महामृत्युंजय मंत्र” भगवान शिव का सबसे प्रिय और बड़ा मंत्र माना जाता है। महामृत्युञ्जय मंत्र की साधना  करके शिवजी को प्रसन्न करने वाले के पास आने से मृत्यु भी घबराती है. महामृत्युञ्जय मंत्र  इतना चमत्कारी मंत्र है.

महामृत्युंजय मंत्र  का सवा लाख बार जाप करने से असाध्य रोगो तथा ग्रहों के दुष्प्रभाव को खत्म किया जा सकता है।

महामृत्युंजय मंत्र हिंदी मै अर्थ के साथ  

||ॐ त्र्यम्बक यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धन्म।

उर्वारुकमिव बन्धनामृत्येर्मुक्षीय मामृतात् !!

महामृत्युंजय मंत्र का अर्थ 

हम त्रि-नेत्रीय भगवान शंकर की पूजा करते हैं, जो प्रत्येक श्वास में जीवन शक्ति का संचार करते हैं, जो जीवन की मधुर परिपूर्णता को अपनी शक्ति से पोषित कर रहे हैं, उनसे हमारी प्रार्थना है कि जिस प्रकार एक ककड़ी अपनी बेल में पक जाने के उपरांत उस बेल-रूपी संसार के बंधन से मुक्त हो जाती है, उसी प्रकार वे हमें मृत्यु के बंधनों से मुक्त कर दें, जिससे मोक्ष की प्राप्ति हो जाए. 

महामृत्युंजय मंत्र हिंदी  PDF डाउनलोड

निचे दिए गए लिंक पर क्लिक कर महामृत्युंजय मंत्र हिंदी PDF डाउनलोड करे.

महामृत्युंजय मंत्र हिंदी  MP3 डाउनलोड

निचे दिए गए लिंक पर क्लिक कर महामृत्युंजय मंत्र हिंदी MP3 डाउनलोड करे.

(Visited 862 times, 1 visits today)