शनि देव मंत्र

शनि देव मंत्र

ऊँ शं शनैश्चराय नम:।

शनि बीज मंत्र

ॐ प्राँ प्रीं प्रौं सः शनैश्चराय नमः ॥

शनि वैदिक मंत्र

ॐ शं नो देवीरभिष्टय आपो भवन्तु पीतये।
शं योरभि स्रवन्तु नः॥

शनि मूल मंत्र

” नीलांजन समाभासं रवि पुत्रां यमाग्रजं। छाया मार्तण्डसंभूतं तं नामामि शनैश्चरम्॥ “

श्री शनि देव मंत्र के लाभ

शनि देव की साधना में श्री शनि देव मंत्र का पाठ बेहद प्रभावशाली माना जाता है। धर्म शास्त्रों के अनुसार श्री शनि देव मंत्र का पाठ करने से मनुष्य के सभी पाप दूर होते हैं। नित्य श्री शनि देव मंत्र का पाठ करने वाले को  शनि ग्रह की पीड़ा से शांति मिलती है और सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती है।

श्री शनि देव मंत्र का पाठ कैसे करे

हिन्दू धरम शास्त्रों के अनुसार शनिवार को शाम के समय स्नान करके शनिदेव के मंदिर मै शनि की मूर्ति के सामने श्री शनि देव मंत्र का पाठ करे. सर्व प्रथम शनि देव को , धुप -दीप दिखाएं  ,प्रसाद अर्पित करें, आचमन हेतु जल अर्पित करें, तत्पश्चात नमस्कार करें।फिर शनि देव की मूर्ति पर सरसो का तेल चढ़ाये, तत्पश्चात श्री शनि देव मंत्र का पाठ करे ।

श्री शनि देव मंत्र हिंदी  PDF डाउनलोड

निचे दिए गए लिंक पर क्लिक कर श्री शनि देव मंत्र हिंदी PDF डाउनलोड करे.

श्री शनि देव मंत्र हिंदी  MP3 डाउनलोड

निचे दिए गए लिंक पर क्लिक कर श्री शनि देव मंत्र हिंदी MP3 डाउनलोड करे.

 

(Visited 102 times, 1 visits today)